होंसला बुलंद

चोटें खाई, गिरे भी पर फिर उठ खड़े हुए क्यूंकि हार तो हमने भी नहीं मानी थी … लक्ष्य हासिल करना बाकी था, काफी दूर था पर हम चलते चले गए क्यूंकि हार तो हमने भी नहीं मानी थी … चलते चलते राहें भूल गए पर रास्ता बनाना सीख लिया क्यूंकि हार तो हमने भी नहीं मानी थी … नाम -ओ -निशान मिटने को था पर पत्थर पे लकीर बना ली थी क्यूंकि हार तो हमने भी नहीं मानी थी … खेल भी उनका खिलाड़ी भी उनके पर उन्ही को मात देदी क्यूंकि हार तो हमने भी नहीं मानी थी … ज़माने ने झुकने को कहा पर हमने उन्ही का सलाम लिया क्यूंकि हार तो हमने भी नहीं मानी थी … जीना भी बेईमानी बन गया था पर क्या करते हार तो हमने भी कहाँ मानी थी …